Computer Virus क्या है ? – What is a Computer Virus in Hindi [ 2021 ]

Computer Virus का अस्तित्व तब से ही है जब से Computers का निर्माण और उसका बड़े पैमाने पर उपयोग शुरू हुआ है और यह आगे भी बढ़ने वाला ही है क्योंकि आज के समय मे Hackers की संख्या में काफी वृद्धि हुई है तथा रोज़ कोई कोई ऐसे मामले ही जाते है जहाँ   Hacking  से जुड़ी चीज़े होती रहती है.  

इसीलिए आपको आज के समय मे  इंटरनेट इस्तेमाल करते वक़्त काफी सावधान रहना होता है  क्योंकि INTERNET पर कुछ भी अपनी Information Share करना खतरे से खाली नही है.  

What is Computer Virus kya hai Hindi - Digital Madad

इसीलिए आप कह़ी भी अपनी Personal Information Share करते है तो सबसे पहले यह सुनिश्चित कर ले कि वह Genuine Website हो. 

आज एक Virus की वजह से पूरी दुनिया परेशान है और इससे बहुत से देशों को बहुत ज्यादा आर्थिक नुकसान का सामना भी करना पड़ रहा है.  

वैसे ही  Computer  जगत में भी Virus का बहुत नाम हैं और इसकी वजह से भी बहुत से लोगो को और Businesses को नुकसान हो चुका है और आगे भी ये सब होता ही रहेगा क्योंकि  अच्छे लोगो के साथ साथ बुरे लोग भी दुनिया मे रहते है जो कि ये सब करते रहते है. 

तो चलिए दोस्तों आपको Virus के बारे में Detail में जानकारी देते है कि Computer Virus क्या है और इसके कितने प्रकार है और यह कितना खतरनाक है. 

Virus क्या है – What is Virus in Hindi

Virus एक ऐसा Program होता है जो कि केवल नुकसान पहुँचाने के लिए बनाया गया होता है और उसमे इस तरह की जानकारी डाली गई होती है जो कि किसी चीज़ के संपर्क में आते ही React करे  जैसे कि हमारे Human Body के साथ होता है.

कोई भी Virus तब तक निष्क्रिय रहता है जब तक कि उसे ऐसी Body मिल जाये जो कि उसके लिए सही हो, एक बार जब Virus को सही Body मिल जाती है तो वह उस के साथ React करता है और अपनी Feed की गई Information के मुताबिक काम करने लगता है. 

बिल्कुल ऐसा ही Computer Virus के साथ भी है. जब तक कि वो किसी ऐसे जगह पर रखा हुआ है जहाँ उसे React करने लायक Body मिल जाए तब तक वह निष्क्रिय है.  

लेकिन जैसे ही वह आपके Computer के Main Frame के साथ Interact करता है तो आपके Computer में वह Program काम करने लगता है और Feed Instructions के अनुसार वह आपके Computer के Data को नुकसान पहुँचाने लगता है.  

Virus के प्रकार – Types of Virus in Hindi

Virus के कई प्रकार होते है जैसे कि Biological Virus, Computer Virus, Animal Virus आदि. 

Biological Virus :

यह Virus ऐसे होते है जो कि इंसानों को नुकसान पहुँचाते है.  आज के समय मे ऐसे ही एक कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले रखा है और हमेशा से ही ऐसे Virus Humans को नुकसान पहुँचाते रहे है. 

Animal Virus : 

यह वो Virus होते है जो कि जानवरों में फैलते है और कई बार जानवरों को अपनी चपेट में ले चुके है. 

Computer Virus :

Computer Virus वो Programs होते है जो कि Computers को नुकसान पहुँचाने के लिए बने होते है और यह आपके Computer में मौजूद Data को Delete या नष्ट करके आपको नुकसान पहुँचाते है. 

Worms

Worm भी Computer Virus का ही एक रूप है लेकिन यह मुख्य तौर पर आपके Computer के Data को खराब नही करते है बल्कि आपके Data की चोरी करते है और उसका इस्तेमाल आपके खिलाफ करते हैं

Computer Virus क्या है – What is Computer Virus in Hindi

Computer Virus इस तरह से Design किया हुआ Program होता है जो कि खुद Feed किये गए Process को Follow करता है और आपके Data को नुकसान पहुँचाता है.  

ऐसे में उस Virus Program पर Depend करता है कि उसे किस तरह के काम को करने के लिए बनाया गया है  यदि उसे Data की चोरी करने के लिए बनाया गया है तो वो Data की चोरी करेगा और अगर Data Delete करने के लिए बनाया गया है तो Data Delete करेगा .

इसलिए आपको अपने Computer में एक Antivirus को रखना जरूरी है  ताकि इस तरह के Programs को Detect करके उसे आपके Computer से Remove कर सके. 

असल मे  Computer Virus कुछ अलग नही होता है.  वह भी एक तरह का Computer Program ही होता है.  

जैसे कि आप किसी भी काम को करने के लिए Computer Program का इस्तेमाल करते है.  

वैसे ही Virus भी होता है  लेकिन आप अच्छे Computer Programs के जरिये अपने Computer में अच्छे कामो को कर पाते है और जिस तरह के Instructions आप उस Program को देते है वह उसी के अनुसार काम करता है.  

Computer Virus की परिभाषा – Definition of Computer Virus in Hindi

Computer Virus एक ऐसा Program होता है जो कि एक बार आपके Computer में Run करने लगा तो उसे Control करना बहुत मुश्किल होता है.  

यहाँ तक कि उसको कई मामलों में Control भी नही किया जा सकता है.  इसलिए आपको ऐसे Programs से अपने Computer को सुरक्षित रखने के लिए हमेशा अपने Computer में एक अच्छा सा Antivirus ज़रूर रखे. 

Computer Virus को संछेप में जाने तो जैसा कि आपको पहले भी बता चुके है कि Virus भी एक तरह के Programs ही होते है  जो कि Computer को और उसके Programs को नुकसान पहुँचाने के लिए ही बनाए गए होते है. 

असल मे Virus की शुरुआत एक Experiment से हुई थी  जिसमे एक Computer Program को बनाया गया था  जो कि इस तरह का था जिसमे Computers के Program को नुकसान पहुँचाने के लिए बनाया गया था  और बाद में उसको Control नही किया जा सका 

लेकिन इसके बाद ऐसे ही Experiment होते रहे और Virus का निर्माण हो गय  तथा इसका उपयोग Computer Programmers ने अपने फायदे के लिए करना शुरू कर दिया.  

लेकिन आज के समय मे Computer Virus का इस्तेमाल Antivirus बनाने में भी किया जाता है जिसमे कि  Malware बनाने वाले व्यक्ति भी शामिल होते है. 

Computer Virus का फुल फॉर्म – Full Form of Computer Virus

Virus का full form ‘Vital Information Resources Under Seize’ होता है. 

Full Form Of Virus

V – Vital 

I – Information 

R – Resources 

U – Under

S – Seize

Computer Virus के प्रकार – Types of Computer Virus in Hindi

  • Direct action Virus – यह Virus तब तक नही रुकता है जब तक कि आपके Computer में मौजूद सभी Files को Infect कर दे. 
  • Resident Virus – यह Virus Computer Memory में खुद ही Download हो जाता है और इसको ढूंढना मुश्किल होता है तथा इससे भी मुश्किल इसको निकलना होता है. 
  • Boot sector Virus – यह Virus मुख्य तौर से Master System को Infect करता है और इसको निकलना भी बहुत मुश्किल हो जाता है.  जिसको केवल Format करके ही निकाला जा सकता है लेकिन यह ज्यादातर Removable Media के जरिए ही फैलता है. 
  • Overwrite Virus – जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि यह Virus आपके Files को बदल कर किसी अन्य प्रकार के Format में तब्दील कर देता है.  यह मुख्य तौर पर Emails के द्वारा ही फैलता है. 
  • Multipartite Virus – यह Virus आपके System के Multiple files को Target करता है और बहुत तेज़ी से Infect करता है आपके System को.  यह Files और System Records दोनों को ही नुकसान पहुँचाता है. 
  • Polymorphic Virus – इस प्रकार के Virus को Detect करना बहुत मुश्किल होता है.  क्योंकि यह खुद अपने आप को बदलते रहते है आवश्यकता के अनुसार बदल कर System में मौजूद Antivirus से बच जाते है. 
  • Space filler Virus – यह Virus आपके Programs के बीच मौजूद खाली Space को घेर लेता है और इसको Cavity के नाम से भी जाना जाता है.  लेकिन यह आपके Files को नुकसान नही पहुँचाता. 
  • File infector Virus – इस Virus को Parasitic Virus के नाम से भी जाना जाता है.  क्योंकि यह Program Files के साथ Attached होकर आता है जैसे कि .com या .EXE Files . इनसे बचने का Best रास्ता है Antivirus को रखना. 

Computer Virus का इतिहास –  History of Computer Virus in Hindi

Computer Virus को सबसे पहले 1971 में Rebort Thomson ने   BBN Technologies  में काम करते हुए बनाया था.  यह पहला कोई ऐसा Program बनाया गया था जिसको Creeper Virus का नाम दिया गया था.  

यह एक तरह का Experimental Program का हिस्सा था.  और इसको खुद Thomson ने बनाया था.  इस Virus के द्वारा सबसे पहले APRANET Mainframe को Infect किया गया.  

जब Virus के द्वारा Main Frame को Infect किया गया, तो उसमें एक ही Message Show करता था वो यह कि  “I’m creeper: catch me if you can.”

पूरे Computer के इतिहास में जिस Computer Virus को सबसे पहले पकड़ा गया था, वो Elk Cloner था.  

Elk Cloner ने Apple 2 Operating System को सबसे पहले Infect किया था.  इस Virus को एक FLOPPY DISK के जरिए Computer में डाला गया था.  

इस Virus को एक Teenager ने बनाया था.  जिसका नाम   Richard Skrenta  था. 

Computer Virus कैसे Attacks करता है ?

Computer Virus का Attack करने का तरीका बिल्कुल Simple होता है.  आपके Computer में घुसना और आपके Information और Data को नष्ट या चोरी करना. 

Computer Virus को Design ऐसे किया जाता है कि वह आपके Computer में घुस सके.  लेकिन यह Virus के Design पर Depend करता है उसे किस Purpose के लिए बनाया गया है क्योंकि Virus भी अलग अलग Purposes के लिए बनाए जाते है.  जैसे कि Trojan,

इस Trojan Virus का काम होता है आपके Computer Program में घुसना और आपके Personal Information को Hackers तक पहुँचाना जिससे कि आपको Financial या Personal नुकसान हो सकता है.  

ऐसे में यदि आपके Computer में जैसे ही Trojan Virus Install होता है.  वह आपकी Activities को Recode करने लगता है और Hackers तथा आपके Computer के बीच मे एक Bridge बना देता है.  

जिससे कि Hackers आपकी Activities की Information अपने पास Store करने लगते है और जैसे ही आप किसी WEBSITE पर जाकर Payment करने के लिए अपनी Credit Card या Debit Card की Information Share करते है.  

वैसे ही उनको भी यह जानकारी मिल जाती है.  और वो लोग आपके पैसों को चुरा सकते है. 

ऐसे ही एक और बहुत Popular Virus 2017 में आया था जिसका नाम Wannacry था जिसने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया था.  

इसको कुछ इस तरह से Design किया गया था कि यह आपके Computer में सीधा Download हो जाता था और बिना आपके Permission के Install हो जाता था.  

तथा Install होते ही आपके पूरे Computer में मौजूद Data को Encrypt कर देता था.  और Data को Decrypt करने के लिए आपसे Ransom मांगता था जो कि Bitcoins के रूप में होता था.  

इसके Attack करने के तरीके के कारण सभी बड़ी Companies को बहुत नुकसान हुआ था.  इसीलिए आपको Internet से File Download करते वक़्त FILE को Scan कर लेना चाहिए और Computer में हमेशा एक अच्छे Antivirus को रखना चाहिए. 

Top 10 Computer Virus Attacks

  1. WannaCry – यह Virus 2017 में फैला था और इसने लगभग सभी देशों के Companies और GOVT Website और उनके Data को नुकसान पहुँचाया था.   और इसको रोकने के लिए एक 22 साल के Security Researcher जो कि UK Based था. उसने इसको Off करने के लिए Patch बनाया था.  इस Virus ने सबसे ज्यादा Damage Old और Outdated Systems को पहुँचाया था. 
  2. Mydoom – यह Virus 2004 में फैला था जिसने की लगभग 30 BILLION Dollars का नुकसान किया था.  यह एक Warm था जो कि Computer में Spread होने के बाद दूसरे Computer के Address को ढूंढ कर उनके पास बड़े पैमाने में Emails Send करता था जिससे कि बहुत से Computers Infect हो गए थे. 
  3. SObig – यह भी 2003 में बनाया गया Worm था.  जिसने दुनिया भर के Computers को Damage किया था. 
  4. Klez – यह भी उन Virus Attack में शामिल है, जिसने कि सबसे बुरे तरीके से Computers को नुकसान पहुँचाया था.  यह Virus Attack 2001 में हुआ था और 7 MILLION से भी ज्यादा Computers को Infect किया था. 
  5. ILoveYou – iloveu Virus 2000 में काफी फैला था.  यह Virus एक Text FILE में था जो कि एक Love Letter की तरह था.  यह Virus Email के द्वारा Send किया जाता था.  और Release के कुछ समय बाद ही इसने 10 Million से भी अधिक PCs को Infect कर दिया था. 
  6. Zeus – यह एक Group Program था जो कि एक साथ काम करता था Machines को Remote Handle करने के लिए.  इसको Europe में बनाया गया था और इसका उपयोग Banks के Secret Account में पैसों को इकठ्ठा करने के लिए किया जाता था. 
  7. Cryoto Locker – इस Virus Attack ने दुनिया के लगभग 250,000 Devices को Infect किया था.  और Data को Encrypt कर दिया था तथा Data को Decrypt करने के लिए एक Payment Window Open करता था.  
  8. Code Red – यह Virus 2001 में पहली बार देखा गया था.  और इसने 975,000 Computers को Infect किया था.  और Screen पर Hacked by Chinese Message Show करता था.  
  9. Slammer – यह Virus बहुत ही Smart था.  इसने 200,000 से भी अधिक Computers को Infect किया था.  और यह Randomly IP Addresses को Select करके उनमे कमी को ढूंढ कर खुद को उस Machine में Transfer कर देता था.  जिससे कि वह भी Infected हो जाता था. 
  10. Sasser – यह Worm 17 साल के बच्चे के द्वारा बनाया गया था.  जो कि Jarman Computer Science Student था.  और इसे 2004 में Arrest कर लिया गया था.  तथा इसके बनाए गए Virus ने MILLIONS PCs को नुकसान पहुँचाया था. 

Computer Virus के लक्षण

अब हम उम्मीद करते है कि आपको Computer Virus के बारे में बहुत कुछ मालूम पड़ गया होगा.  लेकिन क्या आपको Computer Virus के लक्षण पता है.  ताकि जब भी आपके Computer में कोई Virus प्रवेश करे तो आपको उसकी जानकारी हो सके. 

लेकिन यदि आपका Antivirus किसी कारण से Virus को नही पकड़ पाता है तो भी कुछ ऐसे संकेत आपको Computer में मिलते है जिनसे आप Computer में Virus के होने का पहचान कर सकते है.  

जैसे कि सबसे पहला लक्षण आपको अपने Computer में यह देखने को मिलेगा कि आपका Computer पहले के मुकाबले Slow काम कर रहा होगा और Computer Resources को कही और इस्तेमाल कर रहा होगा.  

यदि Virus के द्वारा आपके Computer से Data की चोरी हो रही होगी तो आपके Computer में Internet की खपत unnecessary बढ़ जाएगी.  जैसे कि Uploading Speed में  बढ़ोतरी होगी वो भी जब आप कोई काम उस पर Uploading का नही कर रहे होंगे.  

दूसरा लक्षण है आपके Computer में Files Corrupt होनी शुरू हो जाएगी.  जिससे कि आपका Data खराब या किसी और Format में बदलने लग जाएगा या उसका Size भी कम होने लग जाएगा. 

और तीसरा बड़ा लक्षण जो अभी तक सामने आया है वो यह कि आपका Computer में मौजूद पूरा Data Encrypt हो जाएगा.  और आप उसे कुछ भी नही कर पाएंगे. 

अगर आपके Computer में ऐसा लक्षण दिखाई देते है तो आप System को अच्छे से Scan करे.  और कोई भी file को Computer में Copy करते वक़्त हमेशा AntiVirus को ON रखे.  

इसके साथ ही जो भी ZIP Files को उनको Scan करने के बाद ही अपने Computer में Store करे.  क्योंकि सबसे ज्यादा Virus ऐसे ही ZIP Format Files के द्वारा भेजे जाते है. 

Pop up का खुद OPEN होना और एक ही FILES की Multiple Copies बनना भी Virus के ही लक्षण है. 

Computer Virus कैसे फैलता है ?

Computer Virus को  कई तरीकों को फैलाया जाता है  और इसका सबसे प्रमुख तरीका आज के समय मे किसी चीज़ में पैसों के लालच देकर फैलाया जाता है.  

जैसे कि किसी व्यक्ति को Target करते वक़्त उसकी Basic जानकारी निकाल कर उसको कोई FILE Send कर देते है.  और कहते है कि इसके आप एक बार Check कर लीजिए और इसके बदले हम आपको कुछ Payment देंगे.  

ऐसे में लोग पैसों के जाल में फस कर Virus को आपके Computer में Install कर लेते है.  

तो चलिए अब विस्तार से जान लेते है कि Computer Virus किन साधनों के द्वारा आसानी से फैलता है या फैलाया जा सकता है. 

  • Computer Virus Emails के द्वारा Review और Product Feedback के बहाने से Computers में फैलाया जाता है. 
  • किसी FILE में डाल कर Computer में डाला जाता है. 
  • यदि आप Crack Software’s का इस्तेमाल करते है तो उनमें भी Virus को डाल कर फैलाया जा सकता है. 
  • Pen DRIVE के द्वार भी Virus को फैलाया जाता है.  और पहले के समय में ऐसा बहुत अधिक किया जाता था.  क्योंकि पहले के AntiVirus इतने Advance नही थे जो कि Pen Drive Insert करते ही उसे Scan करे और उसे Block कर सके. 
  • Video FILES के द्वारा भी Computers में Virus को फैलाया जाता है. 

Computer Virus के प्रभाव

Computer Virus के प्रभाव से आपके Computer और उसमे मौजूद Files पर बहुत गलत प्रभाव पड़ सकता है.  इससे आपके Files के साथ आपका Computer भी खराब कर सकता है.  

तो चलिए विस्तार से जान लेते है कि Computer Virus का क्या प्रभाव आपके Computer पर पड़ सकता है. 

  • Computer Virus के प्रभाव से आपका Computer खराब हो सकता है. 
  • Computer Slow Response करने लगता है. 
  • Computer में मौजूद Data आपका खराब हो सकता है या पूरी तरह से नष्ट हो सकता है. 
  • Computer का Hardware पर भी Virus का खराब प्रभाव पड़ता है और यहाँ तक कि यह भी खराब हो सकता है. 
  • Virus आपके Computer को पूरी तरह से Lock भी कर सकता है.  यहाँ तक कि आप अपने Computer को सही से इस्तेमाल भी नही कर पाएंगे. 
  • Computer Virus आपके Computer के Resources को गलत कामो में इस्तेमाल कर सकता है और इसका असर आपके LAPTOP के Battery पर भी पड़ सकता है.  या Computer में Overheating की समस्या भी हो सकती है. 

Computer Virus से कैसे बचें ?

Computer Virus से अपने Computer और उसके Data को Safe रखने में लिए आपको हमेशा नीचे बताए गए चीज़ों का ध्यान रखना होगा.

  • हमेशा अपने Computer में एक बेहतरीन AntiVirus रखे. 
  • आपके AntiVirus में Ransomware Virus की भी Protection होनी चाहिए.  ताकि Virus आपके Important Files को Infect कर सके. 
  • कभी भी Spammy Website जैसे कि Torrent जैसे Websites से कुछ भी Download करे. 
  • हमेशा Genuine Software’s के ही उपयोग करे.  CRACK SOFTWARES का इस्तेमाल बिल्कुल भी करे. 
  • किसी भी External Storage device को scan करके ही Computer में files को save करे. 

ध्यान देने योग्य महत्वपूर्ण  बाते

  1. Computer में हमेशा AntiVirus को Active रखे. 
  2. Computer को Virus से Safe रखने के लिए हमेशा Official Website से ही Software Download करे. 
  3. किसी भी तरह के THIRD Party Software को इस्तेमाल करे. 
  4. अपने Computer में हमेशा Ransomware Virus Protection को on रखे. 
  5. Computer को Regular Basis पर SCAN करते रहे. 
  6. किसी ही Untrusted External Drive से Data को अपने  Computer में Copy करे. 
  7. हमेशा अपने Data का Backup बना कर रखे. 
  8. किसी भी प्रकार के संकेत मिलने पर सबसे पहले अपने Internet को बंद करे.  ताकि Virus अधिक तेजी से Computer Files को Damage कर सके. 
  9. Emails को हमेशा Scan करके ही Files को Download करे. 
  10. हमेशा Secured Internet का ही इस्तेमाल करे अपने Computer में Internet का उपयोग करने के लिए. 

FAQ – अतिमहत्वपूर्ण 9 सवालों के जवाब

Computer में Virus कैसे फैलता है ?
Computer Virus को कई तरीकों से फैलाया जाता है.  जैसे कि Emails के द्वारा, Video Files के द्वारा, ZIP FILES के द्वारा, Software’s के द्वारा, आदि. 
Computer Virus से बचने के लिए क्या करना चाहिए ?
Virus से बचने के लिए हमेशा Genuine Software’s और TRUSTED Sources का ही इस्तेमाल करना चाहिए. 
Computer को Virus से कैसे safe रखे ?
अपने Computer को Virus से Safe रखने के लिए हमेशा एक अच्छा AntiVirus रखे.  और अधिक जानकारी के लिए आप ऊपर पढ़े. 
Computer Virus की शुरुआत कैसे हुई ?
Computer Virus की शुरुआत Experiments से हुई थी जो कि Creeper Virus था.  जिसे BBN Technology के Lab में बनाया गया था. 
पहला Computer Virus कौन सा था ?
सबसे पहला Computer Virus Creeper Virus था.  जिसको सन 1971 में बनाया गया था.  जो कि Experiment का एक हिस्सा था. 
Sign of Computer Virus
आपके Computer में खुद Windows Open होने लग जायेंगे. 

Computer में POP Ups Open होते रहते है. 
Computer अधिक Resources का इस्तेमाल करने लगता है. 
Top 3 Computer Virus
Ransomware
Trojan
ILOVEYOU
Virus को कैसे fix करे ?
Virus को FIX करने के लिए आपको अपने Computer को Scan करना चाहिए अगर उससे भी नही FIX होता है  तो ऐसे में Computer Format करना भी पड़ सकता है. 
Virus को कहा से प्रप्त कर सकते है ?
Virus को आप न ही प्राप्त करे तो बेहतरीन है.  लेकिन यदि आप इसे प्राप्त करना चाहते है तो आप किसी भी Spammy Website पर जाकर प्राप्त कर सकते है.  लेकिन उससे होने वाले नुकसान के जिम्मेदार आप  ही होंगे. 

Conclusion

आप लोगो ने अक्सर Computer Virus के बारे में सुना ही होगा क्योंकि जो भी लोग कंप्यूटर चलातें हैं उनको Virus के बारे में जानकारी तो ज़रूर होगी और यह भी हो सकता है कि उन्होंने इसका सामना भी किया हो. 

लेकिन अगर आप को Computer Virus के बारे में अधिक जानकारी नही है तो आप इस Post को ध्यान से पढ़ते रहे, तभी आप अपने आप को और अपने Computer Data को Virus से बचा सकते है.  

Virus कोई भी हो चाहे वो Biological Virus हो या Computer Virus उसका एक ही काम होता है.  आपके System को नुकसान पहुँचाना.  इसीलिए आपको हमेशा Virus से बच के रहना चाहिए चाहे वो कोई भी किसी भी तरह का हो. 

Written by

तो दोस्तों, अगर आपको "Computer Virus" से Related और कोई भी जानकारी चाहिए तो नीचे Comment में जरुर पूछें या नीचे Click कर उपयोगी पोस्ट पढ़ना न भूलें...!

और उपयोगी पोस्ट ↗

Comments

Comment...!!

Leave a Comment