• Home
  • »
  • कंप्यूटर
  • »
  • What is Operating System क्या है ? – कार्यप्रणाली, Full Guide in Hindi [ 2020 ]

What is Operating System क्या है ? – कार्यप्रणाली, Full Guide in Hindi [ 2020 ]

Operating System Hindi

Operating System  Digital World का इतना अभिन्न अंग क्यों हैं और क्या आपको पता है कि Operating System क्या है और यह कितना जरूरी है आज के समय मे ? यदि आपने कभी भी Computer को इस्तेमाल किया होगा तो अपने एक Interface को देखा ही होगा जो कि Operating System होता है।

तो चलिए आपको OS यानी कि Operating System के बारे में विस्तार जान लेते  है कि Operating System क्या है और यह कैसे काम करता है तथा इसकी इतनी अधिक जरूरत क्यों है आज के आधुनिक दुनिया में।

Operating System क्या है ? – What is Operating System in Hindi

Operating System kya hai

Operating System जिसे हम OS के नाम से भी जानते है तो Operating System  किसी भी Computer के Hardware को Control करने के लिए उसको एक Program की जरूरत होती है जिसे Software कहा जाता है और Operating System भी एक तरह का Software ही है जो कि आपके Computer Hardware और सभी Computer Functions को Initial तौर पर Manage और Control करता है।

आज के समय मे भी बहुत से लोग ऐसे है जिनको Operating System के बारे में इतनी अधिक जानकारी नही है तो उन दोस्तों को  हम बता दे कि Operating System किसी भी Electronic Device का सबसे initial Software होता है जो कि Computer, Mobile, या Smart Watch के सभी Hardware’s को Control करता है और उनको आपके अनुसार चलने के लिए Orders देता है।

बिना किसी Operating System के कोई भी Computer केवल एक डब्बा है।

Operating System का मुख्य काम आपके कार्य को सरल बनाना है। आप जो भी Computer में 1 Click के साथ Songs Play करते है या Movies को देख पाते है या आप किसी तरह की files को केवल एक Click करके खोलते है और एक Click के साथ Folder बना लेते है यह केवल Operating System की मदद ही संभव हो पाया है।

Operating System जो कि आपकी सबसे बड़ी बड़ी  Problem को Solve करता है।

उसमे आप अपने OS की मदद से Third Party Software’s और Programs को भी इस्तेमाल कर पाते है। आप जो भी Ms Office, Words, Excel के काम करते है वो सभी Third Party Software होते है जो कि OS के द्वारा ही Run करते है और Manage किए जाते है।

इस Operating System को Short Form में OS भी कहा जाता है। अगर आप जानतें हैं की  कंप्यूटर क्या है  तो आपको Operating System के बारे में भी पूरी जानकारी होनी चाहिए |

आज के समय मे जो सबसे ज्यादा दुनिया मे इस्तेमाल होने वाला Operating System है, वो Microsoft का Windows है जिसको सबसे ज्यादा दुनिया भर में पसंद किया जाता है

लेकिन इसके बाद जो दूसरा सबसे ज्यादा Popular OS है उसका नाम Mac OS है जो कि Apple अपने Computers में डाल के देता है

परंतु तीसरा नंबर Kali Linux का आता है जिसको केवल Programmer’s और Ethical Hackers ही इस्तेमाल करते है क्योंकि इसको Operate करने के लिए Programming Language की जरूरत पड़ती है।

दोस्तों आज हम जितने भी Computer को चलाते है और Operate करते है उन सभी मे किसी किसी प्रकार का OS यानी कि Operating System ज़रूर होता है।

बिना Operating System के आप किसी भी Computer को इस्तेमाल नही कर सकते है और ही आप उसको On कर सकते है।

इस तरह OS लगभग आपके Computer में मौजूद सभी चीज़ों को Control करता है।

Operating System का अर्थ – Meaning of Operating System in Hindi 

Operating System को हिन्दी में भी ऑपरेटिंग सिस्टम या प्रचालन तंत्र कहतें हैं |

Operating System का भावपूर्ण अर्थ यह होता है कि एक ऐसा Program जो कि पूरे कंप्यूटर और उसमें मौजूद सभी प्रकार के Data को Control, Modify, Change, और Delete जैसे Operation का Manage करता है |

इसके साथ साथ इसी के माध्यम से हम अपने कंप्यूटर में मौजूद सभी प्रकार के Data को Read और Write कर पाते है, Computer को कार्य करने के लिए  कीबोर्ड  और  माउस  के माध्यम से Instructions दे पाते है और  Computer के Hardware’s को Control कर पाते है।

सिर्फ इतना ही नही बल्कि आप Internet ओर मौजूद चीज़ों को जो Search कर पाते है वो भी केवल Operating System की बदौलत ही संभव हो पाया है।

आज के समय मे Operating System का इस्तेमाल काफी बढ़ गया है और आज के समय मे जो भी Network Server इस्तेमाल होते है और Operate किए जाते है उनमें भी Initial तौर पर Operator System को Install किया ही  जाता है और उसके बाद ही Servers को Setup किया जाता है और उसको Manage किया जा सकता है।

तो अब आपको पता लग ही गया होगा कि Operating System का अर्थ क्या होता है और कैसे OS मुख्य Software जो Computer को निर्जीव वस्तु से सजीव बनाता है और Computer को कार्य करने योग्य बनाता है।

Operating System की परिभाषा – Definition of Operating System in Hindi

Operating System एक ऐसा Software जो की Computer को चलाने और उसे User के अनुसार Control करने के लिए बनाया गया होता है।

आज के समय मे Windows और Mac OS, Android इस मामले में बहुत अधिक Popular है। 

जब आप कभी भी नया Computer लेते है तो उसमें सबसे पहला काम एक Operating System को Install करने का करते है।

ताकि आप अपने Personal Computer को इस्तेमाल कर सके और उसमें आप अपने जरूरत के Software’s को उपयोग कर सके और आने निजी और Professional कार्यो को कर सके।

Operating System के प्रकार – Types of Operating System in Hindi 

आज के समय मे देखा जाए तो बहुत से प्रकार के Operating System मौजूद है –

जैसे कि Windows, Android, iOS, mac OS, Linux, आदि, लेकिन इन सभी मे से केवल कुछ ही ऐसे Operating System है जो कि पूरी दुनिया मे Popular है जिनमे से Windows और Android सबसे ज्यादा Popular है।

तो चलिए अब विस्तार से जानते है कि Operating System के कितने प्रकार होते है।

⑴ General purpose

आज के समय मे आप जो भी Operating System अपने Personal Computer में इस्तेमाल करते है,  वो सभी Operating System General Purpose में आते है।

जैसे कि Windows Operating System, Mac OS, Linux OS, Android, DDOS. क्योंकि आज के समय मे लगभग दुनिया के 70% Computer में इनमे से ही किसी एक Operating System का इस्तेमाल किया जाता है।

क्योंकि इनका Interface User Friendly है और Users को इन Operating System पर अपने कामों को करने में आसानी होती है

और उनको किसी भी तरह के काम को करने के लिए किसी भी तरह के Code को Enter करने की जरूरत नही होती है। वो केवल एक click पर ही अपने Computer को Operate कर पाते है।

⑵ Computer Purpose

Computer Purpose के लिए भी Windows और  Linux Operating Systems का ही इस्तेमाल किया जाता है।

लेकिन Cloud Computing Service में Ubuntu को भी इस्तेमाल किया जाता है तथा इसके साथ कई और भी  Operating System है जिनको लोग पसन्द करते है जो कि LINUX Kernel, Solaris, CentOS, MOSIX, आदि है।

यह मुख्य रूप से Cloud Computing के लिए ही Design किए गए है जो कि Data को हमेशा Internet से Connect रख कर Data Base को Online रखते है।

⑶ Network Operating System

इस तरह के OS एक Server पर चलते है और Data को Process और Manage करने का कार्य करते है।

यह इस बात को भी सुनिश्चित करते है कि Data को हमेशा Protect रखा जा सके और किसी भी गलत हाथों में लगे। इसके साथ साथ यह Networks Files को Clients Request के अनुसार उनको देखने की अनुमति देते है।

Network Operating system का एक और महत्वपूर्ण पहलू यह है कि सभी उपयोगकर्ता नेटवर्क के भीतर अन्य सभी उपयोगकर्ताओं के Underlying Configuration, उनके Individual Connections आदि के बारे में अच्छी तरह से जानते हैं और यही कारण है कि इन Computers को Popularity रूप से Tightly Coupled Systems के रूप में जाना जाता है

⑷ Real time Operating System

इस तरह के OS Real Time System का काम करते है।

इसमे Required Process को पूरा करने और Input को Respond देने के लिए कम समय का इस्तेमाल करते है और इस समय अंतराल को Response Time कहा जाता है।

⑸ Time sharing Operating System

इस Operating System में प्रत्येक कार्य को करने के लिए समय दिया गया होता है ताकि काम सही समय और Smoothly हो जाए।

क्योंकि यह एक System का उपयोग करते है और इस System को Multitasking System कहा जाता है।

Operating System के कार्य – Function of Operating System in Hindi

Operating System से किसी भी Electronic device जिसको Manually Control किया जाता है उसके लिए OS बहुत जरूरी हैं।

यहाँ तक कि बिना Operating System के आप के हाथ मे पड़ा Mobile भी किसी काम का नही है क्योंकि Mobile को इस्तेमाल और उसके Hardware’s को Control करने के लिए और आपके Instructions के अनुसार चलाने के लिए उसमे Operating System ही मौजूद है। 

जब भी आप Computer को खरीद कर लाते है तो आप उसमे सबसे पहले Operating System को install करते है ताकि आप उस को On कर सके है और इस्तेमाल कर सके।

लेकिन यदि आप Operating System Install नही करते है तो आप अपने Computer को इस्तेमाल नही कर पाते है क्योंकि Computer को Operate और Hardware’s को Control करने के लिए Device के पास कोई भी Information नही होती है जिसके कारण वो  Perform नही कर पाते है।

Operating System का सबसे पहला कार्य सभी Hardware’s को Control करना और उनको जरूरत के अनुसार इस्तेमाल करके Output प्रदान करना होता है।

यह User और Hardware के बीच मध्यस्ता का कार्य करता है क्योंकि आप Binary Language को नही समझ सकते है।

इसलिए जब भी आप कोई Instruction Input करते है तो OS उसे Binary Form में Convert करके Hardware को आगे Instruction देता है और उससे कार्य का Output लेकर आपको फिर से Graphical Form में दर्शाता है। 

➤ Operating System Hardware की information को Hide कर लेता है

जब भी आप अपने Computer को किसी तरह के कार्य को करने के लिए कोई निर्देश देते है तो उस कार्य को करने के दौरान Operating System और Hardware के बीच जो भी बाते होती है उसे छुपा दिया जाता है।

क्योंकि वह आपके मतलब की नही होती है और आपको वह समझ भी नही आएगी और हमारे सामने केवल Output ही Show होता है।

इस तरह हमारे द्वारा दिया गया Input से लेकर Process तक कि क्रिया Backend में हो जाती है और हमे केवल Output ही दिखाई देता है।

➤ Easy interface उपलब्ध करवाता है

Operating System Graphical User Interface पर आधारित है जिस कारण आपको पहले की तरह Computer को किसी भी तरह की Command देने के लिए Code को Input करने की जरूरत नही है। 

यहाँ आप जिस भी File या Folder को Open करना चाहते है उसको केवल एक Button को Press करके Open कर सकते है और अपने Files को Save कर सकते है और इस तरह आपको कोई Code भी याद रखने की भी जरूरत नही पड़ती है। 

यह सभी तरह के Users के लिए Easy to Operate है।

यही कारण है कि आज के समय मे Computer की Demand और Value इतनी बढ़ती जा रही है क्योंकि इसे कोई भी Operating System की मदद से आसानी से चला सकता है और इस पर अपने काम कर सकता है।

➤ संसाधनों को जुटाना

आपके Computer में उपलब्ध संसाधनों को कैसे इस्तेमाल करना है तथा उसको कैसे बाँटना है वह भी Operating System के द्वारा ही Control और Operate किया जाता है।

जैसे कि किसी भी कार्य को करने के लिए कितनी Memory प्रदान करनी है और उसको कितना Space उपलब्ध करवाना है और किन किन Hardware’s को Information देनी है यह सभी कार्य OS ही करता है। 

Operating System का इतिहास – History of Operating System in Hindi

आज के समय में आप जो भी Operating System का इस्तेमाल करते है उनको Develop करने में काफी सालो की मेहनत लगी होती  है और धीरे धीरे करके Operating System की कमियों को दूर किया गया है।

तो चलिए OS के इतिहास के बारे में जान लेते है कि कब और कौन कौन से Operating Systems को बनाया गया था।

First generation :

शुरू के समय मे Electronic Digital Computers में कोई भी OS नही था। उस समय की Machines कुछ ऐसी थी कि उनमें Switch के माध्यम से One bit data को Rows में Enter किया जाता था।

Second generation :

1950 के शुरुआत में पंच Cards की शुरुआत हुई जिनकी वजह से इसमे कुछ सुधार हुआ।

General Motors Research Laboratories ने पहले Operating System को अपने IBM 701 के लिए 1950 में Impediment किया था। यह सिस्टम एक समय मे एक काम को ही कर पाता था।

Third generation : 

1960 के Systems भी Batch Systems थे, लेकिन वे एक साथ कई काम को कर सकते थे।

इसको देखते हुए Operating Systems Designer’s ने Multitasking Concept Develop किया जो कि एक समय मे कई काम कर सकता था। 

Fourth generation :

LSI के Development के बाद Circuit, Chipset Operating Systems ने Personal Computers की दुनिया मे अपना पाउ रखा।

Microprocessor Technology इस कदर विकसित हुई कि 1970 के दशक में Desktop Computers को बनाना आसान हो गया।

इस दौरान दो प्रकार के Operating Systems को Develop किया गया जो कि MS-DOS और UNIX था।

MS-DOS को Microsoft के द्वारा IBM Computers के लिए बनाया गया था और UNIX को large personal Computers के लिए इस्तेमाल किया गया जिसमें की Motorola 6899 CPU Family में इस्तेमाल किया गया।

➽ आगे 

इसके बाद 1984 में Mac OS को Develop किया गया जो कि Apple के द्वारा बनाया गया था। Mac OS पहला OS था जो कि GUI Built in के साथ आता था। 

इसके बाद 1991 में LINUX को LINUS Torvalds ने Free Unix variant के रूप में Develop किया और आज के समय मे LINUX Server Industry में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है।

आगे चलकर Microsoft ने 1993 में अपना पहला Windows NT को Launch किया जो कि High End Server Operating System था।

आगे Windows ने Windows 95 को Introduce किया जो कि Graphical Interface Based था।

इसके बाद Windows OS Popular होने लगे और फिर Windows XP आया उसके बाद Windows vista आया फिर WINDOWS 7 और WINDOWS 8 और आज के समय मे सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जमे वाला WINDOWS 10 आया जो कि फिलहाल सभी लोग इस्तेमाल कर रहे है।

Operating System के लाभ और हानि – Advantages and Disadvantages of Operating System

ऐसे तो Operating System के कारण बहुत से लोगो के लिए Computer को इस्तेमाल करना आसान कर दिया है लेकिन इसके कुछ जहाँ लाभ है तो कुछ हानिया भी है।

तो चलिए अब Operating System के लाभ और हानियों के बारे में जान लेते है।

Advantages of Operating System (लाभ)

  • यह Computer को Operate करना सरल बनाता है जिससे कि आपकी कार्य करने की क्षमता बढ़ जाती है। 
  • Computer पर आप सभी कार्य को तेजी से और सरलता से कर सकते है क्योंकि इसकी क्षमता आपके दिमाग से कई गुना अधिक हैं इसलिए यह बड़ी से बड़ी संख्या की गिनती कुछ ही Seconds में कर लेता है।
  • आप Computer में किसी भी तरह का Data को आसानी से Store कर सकते है और यह Data Paper के मुकाबले कई गुना ज्यादा सुरक्षित रहता है तथा इसको आप कभी भी देख सकते है और आप इन मे Modifications भी कर सकते है।
  • Computer के माध्यम से आप आज के समय मे आप अपनो से कभी भी Video Chat कर सकते है जिस से कि आपको अपने पास होने का भी एहसास होता है और रिश्ते मजबूत रहते है। यह Operating System की वजह से ही संभव हुआ है।
  • आप आज के समय मे बड़ी से बड़ी Files को Computer और Internet की मदद से दुनिया के किसी भी भाग में मैजूद किसी भी व्यक्ति के साथ Share कर सकते है।

Disadvantages of Operating System ( हानियाँ )

  • OS ने बहुत से लोगो को आलसी बना दिया है और आज के समय मे लोग हर तरह के काम Easy तरीके से ही करना पसंद करते है।
  • कई बार Hackers आपके Computer पर इस लिए Attack कर पाते है क्योंकि की आपके Operating System में बहुत सी प्रकार की कमिया होती है।
  • Operating System आज के समय मे काफी महँगे आते है जो कि सभी Middle Class लोगो के लिए Afford कर पाना मुमकिन नही है।
  • OS की वजह से बहुत से काम Automated हो गए है जिससे कि बहुत से क्षेत्रो में लोगो की  Jobs भी गयी है।

Operating System की विशेषताएं

  • यह Processor को Manage करता है और यह सुनिश्चित करता है कि Processor को कितनी Power चाहिए और वह कितना Output दे सकता है।
  • यह Primary Memory को Track और Manage करता है। जैसे  कि कहाँ और कितनी Memory इस्तेमाल हो रही है और कहाँ पर Space की जरूरत है।
  • Operating System हमारे Computer को कई तरीको से सुरक्षित रखता है। जैसे कि Password से Protect करके, Farewell से तथा अन्य माध्यमों से भी।
  • Operating System हमे Computer के Hardware और Software में तालमेल बिठाता है और Computer में मौजूद सभी चीज़े सही से काम करे इसको भी सुनिश्चित करता है।
  • Computer Programs और User के बीच मे भी समान्य तालमेल बनाए रखता है।
  • Computer में आने वाले Errors को Detect करता हैं और उसके लिए Solutions भी कभी कभी प्रदान करता है।

Operating System की आवश्यकता 

Operating System की आवश्यकता इसलिए अधिक पड़ी क्योकि Computer को सही से चलाया जा सके।

चलिए विस्तार से  जान लेते है कि क्यो Operating System की जरूरत पड़ी ?

  • Operating System की मदद से Computer को Operate करना आसान हो गया है।
  • Computer Hardware’s को Automatically Manage करने के लिए और उनको Function करने के लिए  Operating System की जरूरत होती है।
  • इसकी सहायता से आप किसी भी काम को केवल 1 Click में कर सकते है जबकि Programing Codes के द्वारा एक Folder से दूसरे Folder में files को Copy करने में भी काफी समय लगता है और आपको उसके लिए Codes की Knowledge भी होनी चाहिए।
  • मुश्किल काम को बड़ी ही आसानी से किया जा सकता है।
  • Operating System की वजह से ही Computer को Operate करना आसान हुआ है और आज सभी लोग Computer का इस्तेमाल कर पाते है।

Conclusion – आज आपने क्या सीखा ?

आज के समय मे लगभग 60% लोग Computer का इस्तेमाल करते है जिसमे से Maximum लोग IT Sector, Corporate World में काम करने वाले है लेकिन Computer को इस्तेमाल करना पहले के समय मे इतना आसान नही था।

खाशकर शुरुआती दौड़ में, उस समय Computer को Operate करने के लिए Codes को Type किया जाता था लेकिन Bill Gates ने Computer की परिभाषा ही बदल दी जब उन्होंने Windows Operating System को Introduced किया।

उनका मानना था कि Computer को सभी लोगो के इस्तेमाल करने उपलब्ध करवाया जाए और Computer को Operate करना सभी लोगो के लिए आसान हो ताकि कम पढ़ा लिखा इंसान भी Computer को Operate कर सके।

इसलिए उन्होंने Computer को Graphical Interface दिया, जिससे कि Computer को कोई भी केवल एक Click करके Operate कर सकता था

तथा देखते देखते ही Windows Operating System काफी Popular हो गया क्योकि इसने Computer को इस्तेमाल करना काफी आसान बना दिया था और आज भी Windows,  World का सबसे अधिक इस्तेमाल किये जाने वाला Operating System है।

आपको यह पोस्ट भी पढ़ने चाहिए –

> कंप्यूटर क्या है ( What is Computer in Hindi ) – पूरी जानकारी हिन्दी में 

> Keyboard क्या है ? Full Guide in Hindi ( + Pictures )

> Mouse क्या है ? – बटन प्रकार , Full Guide in Hindi [ 2020 ]

तो दोस्तों , आपको हमारी यह जानकारी कैसे लगी ? नीचे Comment , Share करके जरुर बताएं , बहुत बहुत धन्यवाद…!!

Operating System kya hai

Comments

Comment...!!

Leave a Comment

0 Shares
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap